Emotional poetry : इस मुश्किल में कहते हो तुम्हें अकेला छोड़ दूँ – Ranjan Kumar

0

इस मुश्किल में 
कहते हो 
तुम्हें अकेला छोड़ दूँ ,


लड़ लोगे ..?
ये लड़ाई 
सिर्फ तुम्हारी है ?


जो गुजरे हैं वक़्त
संग संग ..


और जो गुजारे हैं
मिलकर साथ
वक़्त हमने ,


ये उनकी मांग है
साथ दूँ तेरा 
इस दौर में 

तू चाहे या फिर न चाहे !

हाँ ये दौर निकल जाए
तो बिछड़ जाना ,


यादों में रख लेंगे
और फिर तुम गए
तो तुम्हे फिर नहीं टोकेंगे !!


– रंजन कुमार