एक सच्ची बात बताऊं तुम्हें पाखंडी सिर्फ और सिर्फ एक पाखंडी होता है – Ranjan Kumar

एक सच्ची बात बताऊं तुम्हें, पाखंडी सिर्फ और सिर्फ एक पाखंडी होता है…! न इससे एक अक्षर कम न ही …

Read moreएक सच्ची बात बताऊं तुम्हें पाखंडी सिर्फ और सिर्फ एक पाखंडी होता है – Ranjan Kumar

मैं केवल शरीर नहीं हूँ नाद हूँ आत्मा का और हस्ताक्षर हूँ काल का-Ranjan Kumar

मैं केवल शरीर नहीं हूँ, मैं बुलंद स्वर हूँ, परमात्मा का, नाद हूँ आत्मा का, और हस्ताक्षर हूँ काल का.. …

Read moreमैं केवल शरीर नहीं हूँ नाद हूँ आत्मा का और हस्ताक्षर हूँ काल का-Ranjan Kumar