Hindi Poetry- दुआ के सिवा क्या दूँ ? RANJAN KUMAR

Childs hand on parents hand

दुआ के सिवा 
क्या दूँ ?
और कुछ भी 
तो मेरे पास नहीं ,

रौशन हो वह राह ,

जब भी 
जहाँ से भी ,
तू अब गुजरे !!

– रंजन कुमार

Share
Pin
Tweet
Share
Share