हरियाणा और महाराष्ट्र चुनाव परिणाम के मायने

0

जनता की हुंकार पर अब जाग जाओ सरकार वरना यही होगा बार बार

सरकार बनाने के लिए सिर्फ मामूली बहुमत महाराष्ट्र में और हरियाणा से खट्टर सरकार की विदाई कर हंग असेम्बली..फ्रैक्चर्ड मैंडेट..सुधर जाइए और जनता के जरूरी मुद्दे पर बात करिये हुजूर वरना लोकतंत्र है जनता हिसाब ले लेती है फिर!

फिल्में बिजनेस कर रही हैं इसलिए कहाँ है मंदी जैसा तर्क रखनेवाले मोदी सरकार के मंत्रियों के घमंडी बोल से आहत जनता की आवाज है हरियाणा और महाराष्ट्र का चुनाव परिणाम…मीडिया जो पालतू कुत्ता बन 288 में 222 और 90 में 75 से 80 सीटें देकर अपनी वफादारी दिखा रही थी एक्जिट पोल में उस मीडिया के मुँह पर भी तमाचा है यह चुनाव परिणाम..सुधर जाइए हुजूर और जन कल्याण के मुद्दे पर केंद्रित होइए…सिर्फ भारत पाकिस्तान मुद्दे पर वोट नहीं मिलेगा चाहे कितने ही सर्जिकल स्ट्राइक करते रहिए..सर्जिकल स्ट्राइक और सैन्य कार्यवाई चुनाब का मुद्दा ही नही होना चाहिए,यह हर चुनी सरकार का प्राथमिक दायित्व है देश की संप्रभुता की सुरक्षा…बेवजह इसको चुनावी मुद्दा अपनी पीठ ठोकने को मत बनाइये..जनता है सब देख रही है…!

जिन बुनियादी समस्याओं से निपटने की जरूरत है उससे कारगर तरीके से निपटें वरना आगे भी ऐसे ही फ्रैक्चर्ड मैंडेट के लिए तैयार रहें, जनता का यही संदेश है !

रंजन कुमार