Inspirational Poetry : अस्तित्व की लड़ाई है यह – Ranjan Kumar

0

lantern

अँधेरे से लड़ते
छोटे दीप को कहा मैंने ,

मुश्किल है लड़ना 
अँधेरे से ,
हार जायेगा तू !
 
“अस्तित्व की लड़ाई है यह ,”
वह छूटते ही बोला ..!

“और जितनी भी देर जलूँगा 
प्रकाश दूंगा ..!

ख़त्म होने से पहले 
कुछ और को 
जलना सिखा जाऊंगा ..

अँधेरे से लड़ना 
सिखा जाऊंगा ..!

इस तरह से रात कट जायेगी 
और सूरज चमक उठेगा ! “
 
सोचता हूँ मै …
यही दर्शन सरल है ,

हम सब जलें बस इस दिए सा
और फिर निकलेगा सूरज !!
– रंजन कुमार