Emotional Hindi love Poetry : मोड़ कोई आएगा तो कतरा कर निकल जाना – Ranjan Kumar

1

man standing alone in rain

जबतक सुविधा हो,
ठहर जाओ 
सफ़र लम्बा है ,

मोड़ कोई आएगा,
तो कतरा कर 
निकल जाना !

साथ के भरम में ,
कट जाए सफ़र 
जितना कटे ,

अन्जाम गुलिस्ताँ का ,
आखिर है ..
उजड़ जाना !!

– रंजन कुमार

1 COMMENT

Comments are closed.