friends_forever : रेत पर लिखी थी कभी रिश्तों की तहरीरें : Hindi love poetry – Ranjan Kumar

0
Friends Forever
रेत पर 
लिखी थी कभी 
हम सब ने 
रिश्तों की तहरीरें…
रेत फिसल गयी 
रिश्ते बाकी हैं …
कई बार 
लिखते हैं जमीन पर
रिश्तो की तहरीरें ..
और फिर 
न रिश्ते ही बचते हैं 
न जमीन ….
आ जाता है 
कहीं से रेत… !!
 
– रंजन कुमार