राम को वनवास दे ही दिया जब मरो पुत्र वियोग में, रोवो तड़पो चीत्कार करो !

lord rama sketch

मेरे प्रकाशित काव्य संकलन अनुगूँज पुस्तक मे संकलित प्रस्तुत है ये रचना .. राम को वनवास दे ही दिया जब …

Read moreराम को वनवास दे ही दिया जब मरो पुत्र वियोग में, रोवो तड़पो चीत्कार करो !

मुंदती हुयी आँखों के चारो ओर सिमटती हुयी दुनिया

army cap

मुंदती हुयी आँखों के चारो ओर सिमटती हुयी दुनिया, और बुझता हुआ  , जिन्दगी का चिराग ! कह देना सितारों से …

Read moreमुंदती हुयी आँखों के चारो ओर सिमटती हुयी दुनिया

रौशनी की एक किरण – उम्मीद अभी बाकी है ! – 01 – डॉक्टर एस सी मदान

Dr TS Madan

मैंने अपने डॉ साहब को डॉ नही रहने दिया दद्दू बना लिया .. मरीज और डॉ के बीच का रिश्ता …

Read moreरौशनी की एक किरण – उम्मीद अभी बाकी है ! – 01 – डॉक्टर एस सी मदान