Hindi Poetry : जब भी कभी कोई चाँद को तन्हा लिखता है ..

0
https://rnjnkmr.blogspot.com/2019/01/Vvk-hindi-poetry-jab-bhi-koi-chand-ko-tanha-likhta-hai.html
जब भी कभी,
गजल में कोई
चाँद को तन्हा
लिखता है..
.
आसमां का भी
एक-एक सितारा,
पूरी शिद्दत से,
रोता होगा!
 
– Vvk